महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही वनडे क्रिकेट को कह सकते हैं अलविदाः रवि शास्त्री

नई दिल्ली।दो बार वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही वनडे फॉरमेट से संन्यास ले सकते हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने यह बात कही है। एक निजी समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में शास्त्री ने कहा, 'धोनी जल्द ही अपना वनडे करियर खत्म करने की घोषणा कर सकते हैं।' वहीं ICC के चार दिवसीय टेस्ट क्रिकेट के प्रस्ताव को शास्त्री ने बकवास बताया है।
रवि शास्त्री ने कहा, 'हमारी एमएस धोनी बात से हुई और वह बात हमारे ही बीच है। उन्होंने अपना टेस्ट करियर समाप्त कर दिया है और जल्द ही वनडे से भी संन्यास ले सकते हैं।' उन्होंने कहा, 'धोनी ने लगातार सभी फॉर्मेट में खेला और इसलिए उनका सम्मान होना चाहिए।'
शास्त्री ने कहा, 'हो सकता है कि वह अब केवल टी-20 मैच ही खेलना चाहें। वह आईपीएल में खेलने जा रहे हैं और अब यह देखना है कि आगे के लिए क्या फैसला लेते हैं।' रवि शास्त्री ने संकेत दिया कि अगर धोनी आईपीएल में अच्छा खेलते हैं तो ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में टीम का हिस्सा भी हो सकते हैं।
शास्त्री ने कहा कि छोटे फॉर्मेट में धोनी के अनुभव का फायदा उठाया जा सकता है। धोनी की कप्तानी में भारत ने तीन आईसीसी टूर्नमेंट जीते हैं। धोनी ने जुलाई 2019 के बाद कोई भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है। धोनी ने भारत की तरफ से आखिरी मैच न्यू जीलैंड के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में खेला था। शास्त्री ने कहा कि टी20 विश्व कप के लिये टीम का चयन करते समय फॉर्म और अनुभव को तवज्जो दी जाएगी।
उन्होंने कहा, ‘हमें व्यक्ति के अनुभव और फॉर्म पर विचार करना होगा। उन्हें पांचवें छठे नंबर पर बल्लेबाजी करनी होगी। अगर धोनी आईपीएल में अच्छा खेलते हैं तो वह खुद को दावेदारों में शामिल कर देंगे।’ धोनी ने भारत की तरफ से 350 वनडे, 90 टेस्ट ओर 98 टी अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और उनके नाम पर 829 शिकार दर्ज हैं। उनके अगुवाई में भारत ने 2007 में टी20 विश्व कप और 2011 में वनडे विश्व कप जीता था।
चार दिन के टेस्ट के मामले में शास्त्री ने कुछ बड़े खिलाड़ियों का नाम लेते हुए कहा कि यह आइडिया बेकार है। उन्होंने कहा कि सचिन तेंडुलकर और रिकी पोंटिंग भी इसका विरोध कर चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘चार दिवसीय टेस्ट बकवास है। अगर ऐसा होता है तो फिर सीमित ओवरों का टेस्ट मैच हो सकता है। पांच दिवसीय टेस्ट मैच में बदलाव की कोई जरूरत नहीं है। अगर इसमें बदलाव ही करना है तो चोटी की छह टीम पांच दिवसीय और अगली छह टीमें चार दिवसीय टेस्ट खेलें।’
शास्त्री ने कहा, ‘अगर आप टेस्ट क्रिकेट को बचाना चाहते हैं तो शीर्ष छह टीमों को एक दूसरे के खिलाफ खेलना चाहिए। आपके पास खेल को लोकप्रिय बनाने के लिये छोटे प्रारूप हैं।’ दिन रात्रि टेस्ट मैच के बारे में शास्त्री ने कहा, ‘दिन रात्रि टेस्ट अभी परीक्षण के दौर से गुजर रहा है। मेरा अब भी मानना है गुलाबी गेंद से स्पिनरों को किसी तरह का फायदा नहीं होता। उन्हें दिन रात्रि टेस्ट के लिये सही गेंद की तलाश करनी होगी। दिन में यह टेस्ट मैच लगता है और रात में आधा टेस्ट मैच।’