प्रदेश में अभी सभी क्षेत्र में बहुत काम होना बाकी है : ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि मध्य प्रदेश के विकास के लिए अभी तक उनसे कोई चर्चा नहीं की गई है। जब उनसे इस बारे में पूछा जाएगा तो वे अपनी राय जरूर देंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अभी सभी क्षेत्र में बहुत काम होना बाकी है। रविवार सुबह ज्योतिरादित्य भोपाल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विजय लक्ष्मी साधौ के यहां पहुंचे थे। 
साधौ के निवास के बाहर निकलते हुए सिंधिया ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा- प्रदेश की जनता ने जिस विश्वास से हमें (कांग्रेस) को चुना है। उसके विश्वास पर हमें खरा उतारना पड़ेगा। जब मीडियाकर्मियों ने उनसे पूछा कि क्या उन्होंने प्रदेश के विकास के लिए कमलनाथ सरकार को कोई राय दी है? तो जबाव में उन्होंने कहा कि अभी तक तो ऐसा नहीं हुआ है। लेकिन जब उनसे पूछा जाएगा तो वे अपनी राय जरूर देंगे।
अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस पर केंद्रीय मंत्री द्वारा की गई टिप्पणी पर सिंधिया ने कहा कि अगर ऐसा माहौल बनाया जाएगा तो निवेश करने कौन आएगा। आज निवेश करने के लिए कई देश उद्योगपतियों के लिए लाल कारपेट बिछाए हुए हैं। दरअसल, पिछले दिनों भारत दौरे पर आए बेजोस ने कहा था उनकी कंपनी अगले 5 साल में 71 हजार करोड़ रुपए के मेक इन इंडिया प्रोडक्ट एक्सपोर्ट करेंगे। वहीं, इसके बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि भारत में निवेश का ऐलान करके बेजोस ने कोई अहसान नहीं किया। 
भोपाल दौरे से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इसके बाद प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गईं। समर्थकों द्वारा सिंधिया को काफी समय से प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग की जा रही है। लेकिन कांग्रेस हाईकमान ने अभी ये मामला लटका रखा है। कांग्रेस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि मई में खाली हो रही प्रदेश कोटे की तीन राज्यसभा सीटों पर चुनाव होना है। दो सीटे कांग्रेस के खाते में जाना तय है। इसमें से एक सीट पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा में भेज महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है।