करॉना वाइरस से टूरिज्म इंडस्ट्री पर खतरा, अब तक 3500 करोड़ नुकसान की संभावना

नई दिल्ली।करॉना वाइरस का असर दूसरे क्षेत्रों पर भी साफ दिखाई देने लगा है। खासकर टूरिज्म सेक्टर को इससे हजारों करोड़ का नुकसान हुआ है। रॉयटर्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय टूर ऑपरेटर्स को इससे करीब 500 मिलियन डॉलर (3500 करोड़ रुपये) का नुकसान हो सकता है। अगर ऐसी स्थिति पूरे साल बनी रहती है तो टूर ऑपरेटर्स का नुकसान 2000 मिलियन डॉलर (14000 करोड़ रुपये) तक हो सकता है।चीन में अब तक इससे 800 के करीब लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 34 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं।
करॉना के कारण चीन और अन्य देशों से आने वाले टूरिस्ट टिकट कैंसिल करा रहे हैं, जिससे टूरिज्म और होटल इंडस्ट्री को भारी नुकसान हो रहा है। चीन और हॉन्ग कॉन्ग के लिए एयर इंडिया ने सभी फ्लाइट अगले आदेश तक कैंसिल कर दी है। इंडिगो ने 20 फरवरी तक फ्लाइट कैंसिल कर दी है।
दूसरी तरफ भारत सरकार ने भी चीन से आने वाले यात्रियों की एंट्री पर रोक लगा दी है। 15 जनवरी, 2020 या इसके बाद जो भी विदेशी चीन जा चुके हैं, उन्हें भारत में एंट्री नहीं दी जाएगी। ऐसे यात्रियों को हवाई, सड़क या समुद्री रास्ते के जरिए भारत आने की अनुमति नहीं है। इसमें नेपाल, भूटान, बांग्लादेश और म्यांमार की जमीनी बॉर्डर भी शामिल हैं।
इंडियन असोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स के वाइस प्रेसिडेंट ईएम नजीब ने कहा कि विदेशी पर्यटकों के साथ-साथ डमेस्टिक पर्यटक भी दक्षिण भारत के लिए बुकिंग कैंसिल करा रहे हैं। केरल में तीन मरीज करॉना से संक्रमित बताए जा रहे हैं, जिसके कारण पर्यटक केरल और दक्षिण के अन्य राज्यों के लिए बुकिंग कैंसिल करा रहे हैं।
2018 में चीन से करीब 2.8 लाख पर्यटक भारत घूमने आए थे। टॉप-10 खर्च करने वालों देशों में उनका भी नाम दर्ज था। टूर ऑपरेटर्स का कहना है कि जनवरी और फरवरी में करीब 50 हजार चाइनीज टूरिस्ट आने वाले थे, लेकिन सभी बुकिंग कैंसिल कर दी गई है। बता दें कि भारत हर साल विदेशी पर्यटकों से 30 अरब डॉलर (2.1 लाख करोड़ रुपये) कमाता है।