चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग बोले- हमने कोरोना के खिलाफ एक ऐतिहासिक जीत हासिल की

बीजिंग: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार को मेडिकल प्रोफेशनल्स को सम्मानित करने वाले एक अवॉर्ड समारोह में कहा कि चीन ने कोरोनावायरस से अपनी लड़ाई में 'ऐतिहासिक और अतुलनीयत परीक्षा' पास कर ली है. चीनी राष्ट्रपति ने इस समारोह में मेडिकल फील्ड से चार 'नायकों' को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया. इस समारोह में सैकड़ों लोग इकट्ठा हुए थे. सबने मास्क और अपने कपड़ों पर लाल रंग के बड़े फूलों के पिन लगा रखे थे. 
चीन की प्रोपगैंडा मशीनों ने चीन के कोविड-19 के रिस्पॉन्स की तारीफों के पुल बांधे हैं. यहां पर इस स्वास्थ्य संकट से देश की कम्युनिस्ट नेतृत्व के संगठन और फुर्ती से की गई लड़ाई की तरह पेश किया है.
शी जिनपिंग ने चीन की महामारी के खिलाफ 'बहादुरी भरे संघर्ष' की तारीफ करते हुए कहा कि 'हमने एक अतुलनीय और ऐतिहासिक परीक्षा पास की है.' उन्होंने कहा, 'हमने कोरोनावायरस के खिलाफ लोगों की लड़ाई में बहुत जल्दी शुरुआती सफलता हासिल कर ली. हम इकोनॉमिक रिकवरी और कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में दुनिया में सबसे आगे चल रहे हैं.'
बता दें कि चीन पूरी दुनिया भर में कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई को लेकर निशाने पर रहा है. यूनाइटेड स्टेट्स और ऑस्ट्रेलिया ने चीन पर आरोप लगाए हैं कि चीन ने वायरस की उत्पत्ति और इसकी गंभीरता को लेकर जानकारी छुपाई थी. 
मंगलवार को हुए इस समारोह में चार लोगों को सम्मानित किया, जिसमें चीन के सबसे मशहूर मेडिकल एक्सपर्ट 83 साल के झॉन्ग नान्शन भी शामिल हैं. चीन में वो कोरोना के खिलाफ लड़ाई का चेहरा बनकर उभरे हैं. शी जिनपिंग ने उन्हें चीन के सबसे सर्वोच्च राष्ट्रीय मेडल से सम्मानित किया. उन्हेोंने कहा कि वो चीन के बाद अब दुनिया के मेडिकल वर्कर्स के साथ वायरस की उत्पत्ति की खोज में शामिल होंगे.