डोनाल्ड ट्रंप अगर बाइडेन से हारे तो 28 साल का रिकॉर्ड टूटेगा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  ज्यादातर चुनावी सर्वेक्षणों में डेमोक्रेट प्रत्याशी जो बाइडेन से काफी पीछे चल रहे हैं.अगर डोनाल्ड ट्रंप तीन नवंबर का राष्ट्रपति चुनाव हारते हैं तो 28 साल का रिकॉर्ड टूट जाएगा.
ऐसा हुआ तो 1992 में जॉर्ज बुश सीनियर के बाद वे पहले राष्ट्रपति होंगे, जिन्हें दूसरा कार्यकाल नहीं मिल पाया. बुश सीनियर भी रिपब्लिकन थे. सीनियर बुश एक कार्यकाल के बाद 1992 का चुनाव हार गए थे. उसके बाद डेमोक्रेट बिल क्लिंटन, रिपब्लिकन जॉर्ज बुश और डेमोक्रेट बराक ओबामा 8-8 साल राष्ट्रपति रहे हैं. ट्रंप अपना चार साल का एक टर्म पूरा कर चुके हैं.
78 साल के बाइडेन चुनाव जीतते हैं तो 32 साल पुराना रिकॉर्ड दोहराएगा. मजे की बात है कि वह भी जार्ज बुश सीनियर का रिकॉर्ड दोहराएंगे. दरअसल, 1988 में राष्ट्रपति बनने से पहले बुश सीनियर उनके पूर्ववर्ती प्रेसीडेंट रोनाल्ड रीगन के कार्यकाल में आठ साल वाइस प्रेसीडेंट रहे थे. तब अमेरिकी चुनाव के इतिहास में 152 साल बाद ऐसा कारनामा हुआ था कि कोई शख्स आठ साल वाइस प्रेसिडेंट रहने के बाद राष्ट्रपति बना हो.. बाइडेन भी बराक ओबामा के शासन में आठ साल उप राष्ट्रपति रहे थे.
अगर बाइडेन 2020 का चुनाव जीतते हैं तो उनके द्वारा उप राष्ट्रपति पद के लिए नामित कमला हैरिस भी इतिहास रचेंगी. कमला हैरिस भारतीय मूल की पहली महिला होंगी, जो अमेरिकी राजनीति में इस मुकाम तक पहुंचेंगी. हैरिस अभी कैलीफोर्निया की सीनेटर हैं.
जॉर्ज बुश सीनियर रोनाल्ड रीगन का आठ साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद राष्ट्रपति बने. बुश सीनियर के कार्यकाल में 1991 में अमेरिका की अगुवाई गठबंधन देशों की फौज ने इराक पर हमला बोला.
डेमोक्रेट प्रत्याशी बिल क्लिंटन ने बुश सीनियर को हराकर 12 साल बाद पार्टी को राष्ट्रपति चुनाव जिताया. मोनिका लेंविस्की प्रकरण में क्लिंटन पर 1998 में महाभियोग चला, सीनेट में पार्टी के बहुमत से वह बच गए.
टेक्सास के गवर्नर रहे जॉर्ज बुश जूनियर 2001 से 2008 तक प्रेसिडेंट रहे. क्लिंटन शासन में उप राष्ट्रपति रहे अलगोर के साथ चुनावी जंग में विजेता का निर्णय कई हफ्तों बाद सुप्रीम कोर्ट से हुआ था. अमेरिका में 11 सितंबर 2001 को सबसे बड़ा आतंकी हमले के बावजूद बुश 2004 का चुनाव भी जीत गए.
2008 की आर्थिक मंदी की आहट के बीच अमेरिका को उसका पहला अश्वेत राष्ट्रपति बराक ओबामा के तौर पर मिला. उन्होंने रिपब्लिकन जॉन मैक्केन को हराया. 2008 में भी ओबामा और उप राष्ट्रपति बाइडेन ने आसान जीत दर्ज की.
कारोबार से राजनीति में आए रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप ने 2016 में अप्रत्याशित जीत दर्ज की. डेमोक्रेट हिलेरी क्लिंटन ट्रंप से 29 लाख ज्यादा वोट पाकर भी हार गईं. अमेरिका की महिला राष्ट्रपति बनने का हिलेरी का सपना टूट गया. अमेरिका फर्स्ट की ट्रंप की मुहिम जनता को भा गई.