"चीन को मात" देने के लिए बाइडन की नई रणनीति, 2 ट्रिलियन डॉलर की योजना से उठाएंगे पर्दा

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने चीन को कड़ी टक्कर देने के लिए भारी-भरकम योजना तैयार की है. राष्ट्रपति बाइडन बुधवार को दो ट्रिलियन डॉलर की इंफ्रास्ट्रक्चर योजना का प्रस्ताव करेंगे. इसका उद्देश्य अमेरिका के बिगड़ते परिवहन नेटवर्क का आधुनिकीकरण, लाखों रोजगार पैदा करना और प्रतिस्पर्धा के मामले में चीन को पछाड़ने के लिए अमेरिका को तैयार करना है. 
बाइडन के "बिल्ड बैक बेटर" कार्यक्रम का यह पहला चरण है. वह पिट्सबर्ग में भाषण के दौरान इसकी घोषणा करेंगे. इसके तहत आठ सालों में भारी-भरकम निवेश किया जाएगा. 
इसके तहत, 620 अरब डॉलर परिवहन क्षेत्र में डालने की योजना है, इसमें 20,000 मील सड़कों एवं राजमार्गों का उन्नयन, हजारों पुलों की मरम्मत और सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सरकारी वित्तपोषण को दोगुना करना शामिल है. बाइडन का इरादा बुनियादी ढांचा योजना को अपनी प्रमुख नीतियों में से एक बनाने का है. 
व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन पेस्की ने कहा, "वह अपनी भूमिका निर्वाह करते हैं. अमेरिका, अमेरिकी वर्करों और हमारे समुदायों में हम कैसे निवेश कर सकते हैं, इसे लेकर उनका एक व्यापक एवं साहसिक नजरिया है." 
निवेश की आंशिक व्यवस्था के लिए कंपनी कर की दर को 21 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत किया जा सकता है. बाइडन प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "राष्ट्रपति कॉरपोरेट टैक्स कोड में सुधार का प्रस्ताव कर रहे हैं ताकि रोजगार सृजन और निवेश को प्रोत्साहित किया जा सके. साथ ही यह सुनिश्चित किया जा सके कि बड़ी कंपनियां उचित हिस्स का भुगतान करे." 
अमेरिकी संसद द्वारा 2 ट्रिलियन डॉलर का कोविड आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज पास करने के तुरंत बाद यह नई विधायी योजना पेश की जाएगी. बाइडन के अमेरिकी संसद में भाषण पर तीखा टकराव हो सकता है, क्योंकि डेमोक्रेटिक पार्टी के पास बहुमत कम है और रिपब्लिकन सदस्यों से विरोध का सामना करना पड़ सकता है.