चीन के राष्‍ट्रपति ने पीएम मोदी को संदेश भेजा, कोरोना के खिलाफ 'जंग' में की मदद की पेशकश

बीजिंग। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक संदेश भेजकर भारत में कोरोना वायरस महामारी पर संवेदना व्यक्त की और देश में कोविड-19 मामलों की वर्तमान बढ़ोतरी से निपटने के लिए समर्थन और सहायता प्रदान करने की पेशकश की. समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के अनुसार राष्ट्रपति शी ने भारत में कोविड​​-19 महामारी पर प्रधानमंत्री मोदी को संवेदना संदेश भेजा.राष्‍ट्रपति चिनफिंग ने अपने संदेश में कहा कि चीन भारत के साथ महामारीरोधी सहयोग मजबूत करने और देश को समर्थन और सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है.चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने बृहस्पतिवार को वादा किया था कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में उनका देश भारत की हरसंभव मदद करेगा और कहा कि चीन में बनी महामारी रोधी सामग्री ज्यादा तेज गति से भारत पहुंचाई जा रही है.
विदेश मंत्री एस जयशंकर को लिखे पत्र में वांग ने कहा था, ‘‘भारत जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उनके प्रति चीनी पक्ष, संवेदना रखता है और गहरी सहानुभूति प्रकट करता है.''भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने इस पत्र को ट्विटर पर साझा किया जिसमें लिखा है, ‘‘कोरोना वायरस मानवता का साझा दुश्मन है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एकजुट और साथ मिलकर इसका मुकाबला करने की जरूरत है. चीनी पक्ष भारत सरकार और वहां के लोगों का, महामारी से लड़ाई में समर्थन करता है.'' वांग ने कहा कि चीन में उत्पादित महामारी रोधी वस्तुएं तेजी से भारत में पहुंचाई जा रही हैं ताकि भारत की इस महामारी में मदद की जा सके.उन्होंने कहा, ‘‘चीनी पक्ष भारत की जरूरत के अनुरूप यथासंभव समर्थन और मदद पहुंचाना जारी रखेगा. हमें उम्मीद और भरोसा है कि भारत सरकार के नेतृत्व के अंतर्गत लोग यथाशीघ्र इस महामारी पर काबू पा लेंगे.''
राष्ट्रपति शी और विदेश मंत्री वांग का संदेश ऐसे समय आया है, जब दोनों देशों की सेनाओं की पूर्वी लद्दाख के बाकी बचे तनाव वाले इलाके से वापसी होनी बाकी है. दोनों देशों की सेना फरवरी में पैगोंग झील के इलाके से पीछे हटी थीं.
 भारत में शुक्रवार को कोविड-19 के अब तक के सर्वाधिक 3,86,452 नए मामले सामने आए जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,87,62,976 हो गयी. इसके साथ ही देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 31 लाख को पार कर गयी है. वहीं 3,498 और मरीजों की मौत हो जाने से संक्रमण के कारण अब तक दम तोड़ चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,08,330 हो गई है.