दूसरे चरण में बुलाए गए खिलाड़ियों को दिया जाएगा उच्च स्तरीय प्रशिक्षण

भोपाल।आगामी राष्ट्रीय एंव अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं को ध्यान में रखते हुए खेल प्रशिक्षकों की अनुशंसा पर दूसरे चरण में बुलाए गए 41 बालक और 21 बालिका सहित 62 बोर्डिंग खिलाड़ी भोपाल पहुंच गए हैं। इन सभी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तरीय खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय प्रशिक्षण दिया जायेगा। इनमें एथलेटिक्स के 8 बालक, 6 बालिका, वाटर स्पोर्ट्स के 15 बालक और 9 बालिका, पुरुष हाकी के 11 एवम् शूटिंग के 4-4 बालक-बालिका, फेंसिंग का एक बालक, दो बालिका तथा ट्रायथलॉन के दो बालक खिलाड़ी शामिल हैं। 
संचालक खेल और युवा कल्याण पवन कुमार जैन ने बताया कि  राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हमारे खिलाड़ियों ने खेलों विभिन्न में न केवल शानदार प्रदर्शन किया है बल्कि रिकॉर्ड बनाकर मध्यप्रदेश का गौरव बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी हमारे खिलाड़ियों ने घर पर रहकर और ऑन लाइन जुड़कर अपने-अपने कोच के मार्गदर्शन में अभ्यास किया है और इनका उत्साह एवम् जोश बरकरार है। आगामी खेल प्रतियोगिताओं को ध्यान में रखते हुए खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय प्रशिक्षण दिया जाएगा जिसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं।  उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर खिलाड़ियों, खेल प्रशिक्षकों और स्टॉॅफ के लिए एहतियाती कदम उठाए गए हैं और कोविड संक्रमण से बचाव के संबंध में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया गया है। 
प्रशिक्षण के लिए दूसरे चरण में भोपाल पहुंचे खिलाड़ियों का टी.टी. नगर स्टेडियम स्थित स्पोर्ट्स साइंस सेंटर में कोविड-19 परीक्षण (आरटी-पीसीआर टेस्ट) कराया गया। थर्मल स्क्रीनिंग सहित खिलाड़ियों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया। फिलहाल उन्हें एक हफ्ते तक क्वॉरेंटाइन किया गया है इसके बाद उनकी ट्रैनिंग शुरू होगी।
म.प्र. राज्य तीरंदाजी अकादमी जबलपुर,  महिला हॉकी अकादमी ग्वालियर और क्रिकेट अकादमी शिवपुरी में दूसरे चरण में बुलाए गए 32 खिलाड़ी पहुंच चुके हैं। 
महिला हॉकी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक परमजीत सिंह बरार ने बताया कि अकादमी द्वारा चयनित 32 में से 9 महिला हॉकी खिलाड़ी ग्वालियर पहुंच गई हैं। संभागीय खेल अधिकारी शिवपुरी एम के धोलपुरी ने बताया कि  अकादमी में 7 क्रिकेट खिलाड़ी आ चुके हैं। जबकि प्रथम चरण में 12 खिलाड़ी आए जो प्रशिक्षणरत  हैं।
इसी तरह जबलपुर स्थित तीरंदाजी अकादमी में दूसरे चरण में 8 बालक और 8 बालिका खिलाड़ी पहुंच गए हैं।