पैरा-स्वीमर सतेन्द्र सिंह तेनजिंग नोर्गे अवार्ड पाने वाले देश के पहले दिव्यांग खिलाड़ी बने

भोपाल। समाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री प्रेमसिंह पटेल ने आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द द्वारा मध्यप्रदेश के पैरा-तैराक सतेन्द्र सिंह लोहिया को तेनजिंग नोर्गे साहसिक पुरस्कार और मलखम्भ प्रशिक्षक योगेश मालवीय को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित होने पर बधाई दी है। कोविड-19 के कारण यह पुरस्कार विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से खिलाड़ी द्वय को भोपाल में दिया गया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव खेल एवं युवा कल्याण पंकज राग भी उपस्थित थे।
सतेन्द्र सिंह यह अवार्ड पाने वाले देश के पहले दिव्यांग खिलाड़ी बन चुके हैं। लोहिया अमेरिका में 42 किलोमीटर की केटलीना चैनल सिर्फ 11:34 घंटे में तैरकर पार करने वाले पहले एशियाई दिव्यांग तैराक बने थे। चैनल में पानी का तापमान लगभग 12 डिग्री होने के साथ ही शार्क मछलियों के हमले का खतरा भी बना रहता है। दिन में तेज चलने वाली हवाओं से बचने के लिये लोहिया ने यह चैनल रात में पार किया, जो एक बड़ी चुनौती थी।
ग्वालियर जिले के ग्राम गाता के रहने वाले लोहिया के पिता गयाराम लोहिया वर्तमान में ग्वालियर के मुथूट फायनेंस में सिक्यूरिटी गार्ड हैं। लोहिया इंदौर में वाणिज्यिक कर विभाग में कार्यरत हैं। लोहिया कहते हैं मैंने अपनी दिक्कतों को ही अपनी ताकत बना लिया है। दिव्यांगों को सहानुभूति की नहीं, सहयोग और सम्मान की जरूरत होती है।
विश्व दिव्यांग दिवस पर उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग खिलाड़ी नेशनल अवार्ड से सम्मानित पैरा-स्वीमर सतेन्द्र सिंह को मध्यप्रदेश के सर्वोच्च खेल अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। सतेन्द्र सिंह लोहिया ने ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में ओलम्पिक स्वीमिंग एनएसडब्ल्यू-2017 स्टेट ओपन चैम्पियनशिप में भारत के लिये स्वर्ण-पदक जीता। उन्होंने मई-2017 में ओपन वाटर सी-स्वीमिंग फीट ऑफ 33 किलोमीटर को पार किया। लोहिया ने 24 जून, 2018 को इंग्लिश चैनल स्वीमिंग में पैरा-स्वीमिंग रिले टीम के माध्यम से कीर्तिमान स्थापित किया और 18 अगस्त, 2019 को कैटलीना इंग्लिश चैनल पार कर इतिहास रचा। राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में श्री सतेन्द्र ने मध्यप्रदेश के लिये 12 रजत एवं 8 काँस्य-पदक हासिल किये हैं।
आयुक्त नि:शक्तजन कल्याण संदीप रजक ने प्रदेश के दिव्यांग पैरा-स्वीमर सतेन्द्र सिंह लोहिया को आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा तेनजिंग नोर्गे अवार्ड-2019 से सम्मानित होने पर बधाई दी है। रजक ने कहा कि देश में पहली बार किसी दिव्यांग को साहसिक खेलों का यह प्रतिष्ठित अवार्ड मिला है। प्रदेश के लिये यह गौरव का दिन होने के साथ ही दिव्यांगों के लिये एक बहुत बड़े प्रेरणा-स्रोत का काम करेगा। रजक ने कहा कि विभाग दिव्यांगों की उन्नति में हमेशा सहायक रहेगा।