भोपाल को आकर्षक एवं सुव्यवस्थित राजधानी क्षेत्र बनाने के लिये सभी निर्माण एजेंसी युद्ध स्तर पर करें कार्य : संभागायुक्त कियावत

भोपाल।भोपाल शहर के सौंदर्यीकरण एवं विकास की व्यवस्थित योजना बनाने के लिये संभागायुक्त कवीन्द्र कियावत ने सभी निर्माण एजेंसियों के साथ बैठक की। बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया, डीआईजी इरशाद वली, आयुक्त नगर निगम केवीएस चौधरी कोलसानी, एडीएम आशीष वशिष्ठ, स्मार्ट सिटी सीईओ अभिषेक सिंह सहित सभी निर्माण एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 
संभागायुक्त ने कहा कि राजधानी भोपाल को देश की सबसे सुंदर राजधानियों में से एक बनाने के लिये सभी निर्माण एजेंसियां युद्ध स्तर पर कार्य करें। उन्होंने त्रिस्तरीय कार्ययोजना की जानकारी दी। अल्पकालीन, मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन योजना के अंतर्गत भोपाल का संपूर्ण सौंदर्यीकरण एवं विकास की योजना तैयार की जाएगी। सभी निर्माण एजेंसियों को तीन दिवस के अंदर योजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये। संभागायुक्त ने कहा कि अल्पकालीन योजना में वर्तमान में चल रहे सौंदर्यीकरण और विकास कार्यों को युद्ध स्तर पर किया जाकर यथा शीघ्र पूर्ण किया जाए। सभी अल्पकालीन कार्यों को 3 माह में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।
अल्पकालीन योजना में सभी प्रमुख मार्गों की मरम्मत तथा नवीनीकरण, प्रमुख मार्गों के सेंट्रल एवं साईड वर्ज की मरम्मत एवं संधारण किया जाएगा। सभी मार्गों के सेंट्रल वर्ज पर हरियाली का संधारण एवं उन्नयन, स्ट्रीट लाईट के पोल्स का पेंट एवं मरम्मत, फुटपाथों का मरम्मत एवं संधारण, नालियों का संधारण किया जाएगा।
संभागायुक्त ने शहर के प्रत्यक कोने को कचरा मुक्त करने के लिये कचरे के सुव्यवस्थित निष्पादन के लिये निर्देश दिये। कचरा निष्पादन एवं परिवहन के लिये निर्माणाधीन 6 नवीन ट्रांसफर स्टेशनों के शीघ्र लोकार्पण के निर्देश दिये। भानपुर खंती के संपूर्ण कचरे का निष्पादन एवं स्थल पर सौंदर्यीकरण कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिये। शहर के कचरे से चारकोल निर्माण प्लांट की स्थापना शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिये गये ।
संभागायुक्त ने शहर में नागरिकों के सुगम और सुव्यवस्थित यातायात के लिए सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने बीआरटीएस मार्ग के संधारण, शहर में नवीन बसों का संचालन, सभी प्रमुख मार्गों के यातायात सिग्नल और रोटरी को क्रियाशील बनाने, सभी प्रमुख मार्गों के बस स्टॉप का संधारण करने के निर्देश दिये गये।
भोपाल के सौंदर्यीकरण की मध्यकालीन योजना में शहर में स्वीकृत एवं निर्माणाधीन सड़कों, रोटरी, फ्लाई ओवर के निर्माण कार्यों को पूरा किया जाएगा। रहवासी क्षेत्रों में पार्क के लिए उपलब्ध समस्त क्षेत्रों में पार्कों का निर्माण किया जाएगा। स्मार्ट सिटी के अंतर्गत हाउसिंग फेस-2, दशहरा मैदान, हाट बाजार, स्मार्ट सिटी के आंतरिक मार्गों को पूर्ण किया जाएगा। भोपाल शहर में बिगड़े हुए वृक्षारोपण की गतिविधि का उन्नयन किया जाएगा। मनुआभान की टेकरी, शाहपुरा पहाड़ी, ठंडी सड़क के क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त कर वृक्षारोपण कार्य के साथ सुरम्य पिकनिक स्पॉट बनाया जाएगा। शहर में स्थापित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को हाउस होल्ड कनेक्शन से जोड़कर स्थापित क्षमता का पूर्ण उपयोग किया जाएगा। शहर के गांधी मेडीकल कॉलेज में 2000 बिस्तरीय सुविधा प्रारंभ की जाएगी। भोपाल शहर के टिम्बर मार्केंट को शिफ्ट किया जाएगा। मध्यकालीन योजनांतर्गत ये सभी कार्य 2 वर्ष की समय-सीमा में पूर्ण किये जाएंगे। 
भोपाल शहर के सौंदर्यीकरण एवं विकास योजना के दीर्घकालीन लक्ष्यों को 3 वर्ष में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें मेट्रो रेल का परिचालन, यातायात सुविधा की दृष्टि से नवीन मार्ग एवं फ्लाई ओवर का निर्माण, शहर की मास्टर प्लान सड़कों का निर्माण अरेरा हिल्स एवं बाणगंगा में अव्यवस्थित झुग्गियों को अन्यत्र व्यवस्थापित कर क्षेत्र को विकसित करना शामिल है।