खिलाड़ियों के उच्च स्तरीय प्रशिक्षण और खेल सुविधाओं में कोई कमी बाकी नहीं रखी जाएगी : खेल मंत्री

भोपाल। वाटर स्पोर्ट की सभी विधाओं में खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय प्रशिक्षण दिलाने के लिए फॉरेन कोच की सेवाएं ली जाएं तथा आवश्यकता अनुसार खेल उपकरण क्रय किए जाएं। यह निर्देश खेल और युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने वाटर स्पोर्ट्स की आगामी राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं की तैयारी की समीक्षा के लिए आयोजित एक बैठक में दिए। 
बैठक में संचालक खेल और युवा कल्याण पवन जैन, संयुक्त संचालक बीएस यादव सहित अन्य अधिकारी, वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के सेलिंग प्रशिक्षक जीएल यादव, कयाकिंग कैनोइंग प्रशिक्षक पीयूष बरोई, देवेंद्र गुप्ता एवं सेलिंग के सहायक प्रशिक्षक अनिल शर्मा उपस्थित थे।
बैठक में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने खेल प्रशिक्षकों से आगामी राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की जानकारी प्राप्त की और कहा कि खिलाड़ियों के उच्च स्तरीय प्रशिक्षण और खेल सुविधाओं में कोई कमी बाकी नहीं रखी जाएगी। उन्होंने वर्ष 2021 में होने वाली वाटर स्पोर्ट्स की सभी विधाओं में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं तथा ओलंपिक हेतु रीजनल क्वालिफिकेशन की तैयारी की सिलसिलेवार समीक्षा कर जरूरी दिशा निर्देश दिए।
बैठक में रोइंग कोच कैप्टन दलबीर सिंह ने खेल मंत्री को अवगत कराया कि ओलंपिक क्वालीफिकेशन, एशियन चैंपियनशिप एवं एशियन गेम्स की तैयारी के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण (साईं) द्वारा भोपाल में 21 दिसंबर 2020 से 31 मार्च 2021 तक रोइंग खिलाड़ियों का इंडिया कैंप आयोजित किया गया है जिसमें  वाटर स्पोर्ट्स रोइंग अकादमी की  सात बालिका खिलाड़ी प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है।