भोपाल पहुंची 94 हजार कोरोना वैक्सीन,8 जिलों में वैक्सीन पहुंचाने का काम प्रारंभ

भोपाल। कोरोना से निर्णायक जंग के लिए “तैयार हैं हम” की थीम पर बुधवार को एंडिगो की फ्लाइट से 94 हजार वैक्सीन भोपाल पहुंची। सभी गाइड लाइन का पालन करते हुए वैक्सीन का कमला पार्क भोपाल में बनाए गए स्टोरेज सेंटर में भंडारण किया गया है। यहां से 8 जिलों के लिए वैक्सीन भी पहुंचाने का काम प्रारंभ कर दिया गया है। 
चिकित्सा शिक्षा ‍मंत्री विश्वास सारंग भी इस एतिहासिक क्षणों का हिस्सा बने उन्होंने वैक्सीन रखने की व्यवस्था को भी देखा साथ ही दूसरे जिलों को रवाना हो रही वैक्सीन के समय भी उपस्थित रहे। इस तरह मध्यप्रदेश के लोगों का इंतजार अब खत्म हो चुका है. कोरोना वैक्सीन की पहली खेप के रूप में 94 हजार डोज मध्यप्रदेश पहुंच चुकी है। अब 16 जनवरी को देशभर में इस महाटीका अभियान की शुरुआत होगी, लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा।
कमला पार्क स्थित वैक्सीन सेंटर में इसे रखा गया है। हेल्थ वर्कर को वैक्सीन देने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से पूरी तैयारी कर ली गई है। भोपाल के स्टेट हेंगर से इंसुलेटेड वैन के जरिए यह वैक्सीन स्टेट वैक्सीन सेंटर तक पहुंचाई गई। डॉ. संतोष शुक्ला, कोविड वैक्सीनेशन अधिकारी ने बताया कि इंसुलेटेड वैन में 7 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को बनाए रखते हुए वैक्सीन को वैक्सीन सेंटर तक लाया गया है।
भोपाल स्टेट हैंगर से सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन को क्षेत्रीय वैक्सीनेशन सेंटर ले जाया गया। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कोविड वैक्सीन सेंटर पहुँचकर वहाँ पर वैक्सीनेशन का जायजा लिया एवं अपने समक्ष बैतूल के लिए 10 हजार 780, भोपाल के लिए 36 हजार 230, हरदा के लिए 3100, होशंगाबाद के लिए 9 हजार 710, राजगढ़ के लिए 5 हजार 790, सीहोर के लिए 9 हजार 550, रायसेन के लिए 8 हजार 300 एवं विदिशा के लिए 9 हजार 900 डोज को इंसुलेटेड बैन से रवाना किया। ये सभी डोज पहले से चिंहित पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को दिए जाएंगे।
वहां वरिष्ठ अधिकारियों की देखरेख में ट्रांसपोर्टेशन का काम प्रारंभ हो गया है। सभी जिले के लिए पदाधिकारी को नियुक्त कर जिम्मेदारी सौंपी जा चुकी है। भोपाल जिले के विभिन्न प्रखंड व अस्पताल में वैक्सीन भेजकर 16 जनवरी से टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा।