राजस्थान : किसान महापंचायत के बहाने सचिन पायलट का शक्ति प्रदर्शन

चाकसू। राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने आज जयपुर के पास चाकसू में किसान महापंचायत में हिस्सा लिया. पायलट के साथ वो विधायक जो पिछले साल उनके साथ बागी हुए थे, भी नजर आए. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा महापंचायत में शामिल नहीं हुए. कांग्रेस का कहना है कि अपने स्तर पर सभी विधायकों को किसानों का मुद्दा उठाने की आजादी है, लेकिन ये महापंचायत कितना किसान हित में थी और कितना इससे पायलट खेमे का शक्ति प्रदर्शन, ये सबसे बड़ा सवाल है.
किसान महापंचायत से ज्यादा ये एक राजनीतिक मंच नजर आ रहा था, जहां एक साथ पायलट गुट के सभी विधायक नजर आए. पहले बागी हो चुके 19 में से 15 विधायक इस आयोजन में नजर आए और दो और अन्य विधायक भी आज इस मंच से जुड़ गए. सचिन पायलट का कहना है कि ये कोई अलग शक्ति प्रदर्शन नहीं बल्कि पार्टी के बैनर तहत ही कार्यक्रम था. ये पार्टी का सामूहिक कार्यक्रम है. ये कांग्रेस का कई महीनों पुराना कार्यक्रम है. प्रदेश अध्यक्ष को भी इस कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था.
गौरतलब है कि किसान महापंचायत में काफी संख्या में लोग पहुंचे थे. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष की गैरमौजूदगी को लेकर सवाल जरूर उठ रहे हैं. चाकसू से कांग्रेस विधायक वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा, 'प्रदेश अध्यक्ष शादी समारोह में गए हैं इसलिए वह नहीं आ सके.' जाहिर है बगावत करने के 8 महीने बाद भी सचिन पायलट के समर्थकों को सरकार में जगह नहीं मिली है और अब प्रदेश में चार उपचुनाव होने हैं. उपचुनाव से पहले सचिन पायलट खेमा अब दोबारा सक्रिय होता नजर आ रहा है.