टीएमसी ने ‘बंगाल को चाहिए अपनी बेटी’ का नारा देकर चुनाव के पहले इमोशनल कार्ड खेला

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस ने 2021 के बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले इमोशनल कार्ड खेलते हुए ‘बंगाल को चाहिए अपनी बेटी' का स्लोगन लांच किया है. बंगाली भाषा में इसे "बांग्ला निजेर मेयेकेई चाए" कहा गया है. माना जा रहा है कि इसके जरिये तृणमूल कांग्रेस चुनाव में लोकल यानी स्थानीय बनाम बाहरी के मुद्दे को और धार देगी.
ऐसे नारों के साथ ममता बनर्जी की तस्वीरों वाले होर्डिंग पूरे कोलकाता में दिख रहे हैं. तृणमूल कांग्रेस ने कोलकाता में अपने मुख्यालय पर आधिकारिक रूप से इस नारे का आगाज किया. तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि बंगाल के लोग अपनी बेटी चाहते हैं, जो पिछले कई सालों से मुख्यमंत्री के रूप में उनके साथ है. हम बंगाल में किसी बाहरी नेता को नहीं लाना चाहते हैं. तृणमूल कांग्रेस की भाजपा के साथ तल्ख राजनीतिक जंग चल रही है.
टीएमसी बंगाल में प्रचार में जुटे बीजेपी के नेताओं को बाहरी कहती है. उसका कहना है कि ये नेता सिर्फ बंगाल में चुनावी मौसम में घूमने के लिए आए हैं. बंगाल में विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी का यह कंपेन "बोहिरागातो" यानी बाहरी लोगों पर निशाना साधने के साथ महिलाओं के वोट बैंक पर केंद्रित दिखाई देता है. महिलाओं में ममता बनर्जी की लोकप्रियता काफी गहरी है.  ममता बनर्जी अपनी हर चुनावी रैली में महिलाओं से सीधे जुड़ने का प्रयास करती हैं और उन्हें गुंडों से सीधे मुकाबला करने को कहती हैं.
तृणमूल कांग्रेस की कोशिश पार्टी का सबसे बड़ा चेहरा ममता बनर्जी की लोकप्रियता को भुनाने की है. अगर बीजेपी बंगाल में मुख्यमंत्री पद का कोई दावेदार नहीं घोषित करती है तो ममता बनर्जी के सामने कोई नेता नहीं होने का मुद्दा भी टीएमसी भुनाने से नहीं चूकेगी.स्लोगन लांच करने के तुरंत बाद मुख्यमंत्री के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने उत्तरी बंगाल के नागरकाटा में एक रैली को संबोधित किया और मतदाताओं से भावनात्मक अपील की.
अभिषेक ने पूछा, क्या बंगाल की बेटी को दिल्ली के सामने घुटने टेक देना चाहिए, मैं अपनी माताओं-बहनों से पूछना चाहता हूं... क्या आप चाहते हैं कि बंगाल की बेटी राज्य के गौरव का समर्पण कर दे और दिल्ली के सामने झुक जाए. बाहर के कुछ लोग बंगाल की संस्कृति को खत्म करने चाहते हैं. क्या आप ऐसे लोगों को ऐसा करने की इजाजत देंगे. अभिषेक बनर्जी डायमंड हार्बर क्षेत्र से तृणमूल कांग्रेस के सांसद हैं.  टीएमसी का पूरा नारा है, बाहरी लोगों को बाहर भेजे, बंगाल को चाहिए अपनी बेटी. ममता बनर्जी बीजेपी पर 'जय श्री राम' के नारे को लेकर भी निशाना साध रही हैं. ममता ने कहा, वो उनको (बीजेपी) को जय हिन्द और जय बांग्ला बोलने को मजबूर कर देंगी और जनता उन्हें जय सिया राम बोलने के लिए विवश कर देगी.