देश में नवंबर अंत के बाद सक्रिय मरीजों की संख्या में आया सबसे बड़ा उछाल

नई दिल्ली। भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में 4421 का उछाल आया है. यह इजाफा 3 फीसदी का है और इस कारण भारत में पिछले 17 दिनों मे कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या डेढ़ लाख के पार पहुंची है. सोमवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, यह नवंबर के अंत के बाद सक्रिय मरीजों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल है. यह लगातार 5वां दिन है, जब सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ी है.
सक्रिय मरीजों की संख्या 24 घंटे में कोरोना के नए मामलों और स्वस्थ हो चुके लोगों के आंकड़ों के अंतर से पता चलती है. इन पांच दिनों में 13,506 सक्रिय मरीज बढ़े हैं.  पिछले हफ्ते सक्रिय मरीजों के बढ़ने की दर 1.5 फीसदी थी जो अब दोगुनी हो चुकी है. रोज मिलने वाले नए मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है. यह 16 फरवरी को 9121 यानी दस हजार से भी नीचे आ चुकी थी,  लेकिन 22 फरवरी को यह संख्या 14,199 तक पहुंच गई.
अगर पिछले एक हफ्ते की वृद्धि दर की बात करें तो औसत 13.8 फीसदी का है. महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में कोरोना के नए मामलों में तेज इजाफा होने से ये असर देखा गया है.केंद्र ने इन पांच राज्यों को आगाह किया है कि कोविड-19 से जुड़े नियमों का पूरी तरह पालन कराया जाए, क्योंकि वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए जरूरी है.
सबसे बड़ी चिंता है कि सक्रिय मामलों में 74 फीसदी  केरल और महाराष्ट्र में हैं. छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पंजाब और जम्मू-कश्मीर में भी रोज नए मामले बढ़ रहे हैं. सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में एक हफ्ते के नए मामलों का औसत 5230 रहा, जो 2 दिसंबर को मिले 5576 मरीजों के बाद सर्वाधिक है. 22 फरवरी को महाराष्ट्र में 6971 केस मिले, जो 24 अक्टूबर को मिले 7347 मामलों के बाद सबसे ज्यादा है.दूसरे सबसे ज्यादा प्रभावित केरल में पिछले एक हफ्ते में नए मामलों का औसत 4361 है. जबकि 22 फरवरी को 4070 मरीज मिले.