पीएम मोदी का ममता बनर्जी पर कटाक्ष - "दीदी, बंगाल तो आपने खो दिया, वाराणसी में आपका स्वागत"

कोलकाता।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का उदाहरण देते हुए तृणमूल कांग्रेस के बीजेपी नेताओं पर "बाहरी" होने के आरोपों का करारा जवाब दिया. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अक्सर आउटसाइडर होने को लेकर BJP पर निशाना साधती रही हैं. पश्चिम बंगाल विधानसभा में दो चरणों का चुनाव हो चुका है और अभी छह चरणों का चुनाव बाकी है.बीजेपी और टीएमसी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है. पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर कटाक्ष करते हुए कहा, "दीदी, बंगाल तो आपने खो दिया, वाराणसी में आपका स्वागत है."
ममता बनर्जी बाहरी होने का हथियार बीजेपी नेताओं के खिलाफ इस्तेमाल करती रही हैं. वो पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहती हैं कि बीजेपी बंगाल की संस्कृति को नष्ट कर देगी. तृणमूल कांग्रेस ने भी कहा था कि ममता बनर्जी अगला लोकसभा चुनाव वाराणसी से लड़ेंगी. इसके जवाब में पीएम मोदी  ने पूछा कि क्या वो बंगाल चुनाव में असुरक्षा के कारण नंदीग्राम के अलावा किसी अन्य सीट से लड़ेंगी.
नार्थ 24 परगना में रैली के दौरान ममता बनर्जी ने बाहरी होने के तमगे पर कहा कि ममता बनर्जी ने कहा था, "बीजेपी बंगाल को विभाजित करना चाहती है. ये लोग बंगाल के लोगों को बांटने चाहते हैं. इसकी भाषा और इसकी संस्कृति को." व्हीलचेयर पर बैठीं ममता ने कहा, मैं सभी अल्पसंख्यक भाई और बहनों से अनुरोद करती हूं कि वे वोटों का बंटवारा नहीं होने दें.
ममता बनर्जी की रैली से 60 किलोमीटर दूर सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, "दीदी अब बाहर नई जगह तलाश रही हैं.वाराणसी में आपका स्वागत है.एक जहाज है जो हल्दिया से वाराणसी जाता है. एक बात और है कि मेरे बनारस के लोग इतने बड़े दिलवाले हैं कि वे आपको पर्यटक या बाहरी नहीं कहेंगे. वे बंगाल के लोगों की तरह बड़े दिलवाले हैं." 
पीएम मोदी ने कहा, "वाराणसी में आप बहुत सारे लोगों को तिलक लगाए हुए देखेंगी और वे जय श्री राम कहते नजर आएंगे. दीदी, तब आपका क्या होगा. तब आप किससे गुस्सा करेंगी. बनारस के लोगों के गुस्सा मत होना. वे आपके साथ रहेंगे. वे आपको दिल्ली नहीं जाने देंगे.वे आपको वहां बनाए रखेंगे." पीएम मोदी 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव बनारस से बड़े मतों के अंतर से जीत चुके हैं.
लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान ममता बनर्जी जब बंगाल के एक कस्बे से काफिले के साथ गुजर रही थीं, जो लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए थे. तमतमाईं ममता ने कार रुकवाई और नारे लगा रहे लोगों को फटकार लगाई थी. तमतमाईं ममता ने कार रुकवाई और नारे लगा रहे लोगों को फटकार लगाई थी. उनका वह वीडियो काफी वायरल हुआ था, तब से कई कार्यक्रमों में ममता बनर्जी के पहुंचने पर जय श्री राम का नारा लगाया जा चुका है. ममता बनर्जी ने भी अपने गुस्से का इजहार करने में जरा  भी संकोच नहीं किया. विक्टोरिया मेमोरियल हाल पर सुभाष चंद्र बोस की जयंती के समारोह में भी कुछ लोगों ने जब जय श्री राम का नारा लगाया था तो ममता अपना संबोधन बीच में ही बंद कर चली गई थीं.