बंगाल में ममता, तमिलनाडु में डीएमके, असम में बीजेपी और केरल में LDF की हो सकती है जीत : एग्जिट पोल

नई दिल्ली। असम, केरल, पुदुच्चेरी, तमिलनाडु और पश्च‍िम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मतदान संपन्न हो चुके हैं. केरल, पुदुच्चेरी और तमिलनाडु में जहां एक ही चरण में मतदान संपन्न हुआ था वहीं असम में तीन और पश्च‍िम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराए गए. पश्च‍िम बंगाल में आज यानी 29 अप्रैल को आख‍िरी दौर का मतदान संपन्न होते ही विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग की प्रक्रिया खत्म हो गई. इसके साथ ही नतीजों की झलक एग्जिट पोल में देखने को मिली. विभिन्न मीडिया हाउसेज द्वारा अलग-अलग एग्जिट पोल जारी किए गए. आप सभी एग्जिट पोल्स को एक साथ एनडीटीवी के 'पोल ऑफ एग्जिट पोल' में देख सकते हैं.
पश्चिम बंगाल की अगर बात करें तो यहां ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस राज्‍य की 294 सीटों में से 149 में जीत हासिल कर सकती है. जबकि इसकी नजदीकी प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी (BJP) 116 सीटों के साथ दूसरे स्‍थान पर रहेंगी. राज्‍य में चुनाव के बाद यह अनुमान पोल्‍स ऑफ एक्जिट पोल्‍स में लगाया गया है. वामदलों को 16 सीटें दी गई हैं. कुल छह एक्जिट पोल्‍स में ममता बनर्जी को आधी सीटों को पार करने का अनुमान जताया गया है. यदि एक्जिट पोल्‍स के यह अनुमान परिणाम में बदले तो ममता राज्‍य में जीत की हैट्रिक बनाएंगी. हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि बीजेपी ने इस बार उनकी पार्टी को कड़ी टक्‍कर दी है. 
 पोल्‍स ऑफ एक्जिट पोल्‍स के अनुसार, तमिलनाडु में डीएमके के शान के साथ सत्‍ता में आने का अनुमान है. एग्जिट पोल के अनुसार एमके स्‍टालिन की DMK और सहयोगी 234 में से कम से कम 171 सीट सकते हैं जबकि मौजूदा समय में राज्‍य में सत्‍तारूढ़ AIADMK और उसके सहयोगी 59 सीटों तक ही सिमट सकते हैं. टीटीवी दिनाकरण की AMMK को दो सीटें मिल सकती हैं. राज्‍य विधानसभा की 234 सीटों के लिए मतदान हुआ है.
दक्षिण भारत के राज्‍य केरल के विधानसभा चुनाव में सत्‍ताधारी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) गठबंधन और कांग्रेस नीत यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) के बीच टक्‍कर की स्थिति है, हालांकि एलडीएफ को कुछ बढ़त हासिल है जबकि यूडीएफ दूसरे स्‍थान पर हैं. बीजेपी को भी राज्‍य में कुछ सीटें मिल सकती हैं. पोल ऑफ एक्ज‍िट पोल्स के अनुसार राज्य की 140 विधानसभा सीटों में एलडीएफ के खाते में 76 सीटें जा सकती हैं जो कि बहुमत के आंकड़े 71 सीटों से ज्यादा ही है.
पुदुच्चेरी की अगर बात करें तो यहां की 30 सीटों में NRC व सहयोगियों को 18 सीटें मिल सकती हैं जबकि बहुमत का आंकड़ा 16 का है.