जनता कर्फ्यू ने आईआईटी कानपुर के पूर्वानुमान को झुठलाया: डॉ. मिश्रा

भोपाल। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने  बताया है कि मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में  स्वयं जनता द्वारा लगाए गए  'जनता कर्फ्यू'  और शहरी क्षेत्रों में  'कोरोना कर्फ्यू' के कारण  विगत 8 दिनों से  पॉजिटिव केस में निरंतर कमी दर्ज की जा रही है। जनता के सहयोग से विगत दिनों आईआईटी कानपुर द्वारा दिया गया पूर्वानुमान कि एक मई को कोरोना पीक पर रहेगा, इसे जनता एवं सरकार के द्वारा किए जा रहे प्रयासों ने झुठला दिया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही हम देश के लिए मॉडल स्टेट बनकर दिखायेंगे।
डॉ. मिश्रा ने कहा कि कोरोना के संबंध में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुनः समीक्षा की है। नए पॉज़िटिव केस 12 हजार 389  दर्ज किए गए हैं, जबकि 14 हजार 562 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए है। प्रदेश के एक्टिव केसों मे 2285 केस की कमी आई है। मध्यप्रदेश देश मे 14वें स्थान पर आ चुका है। प्रदेश में आज 88 हजार एक्टिव केस है। कोरोना की जाँच के लिए आज सर्वाधिक 60 हजार टेस्ट भी हुए हैं। अब प्रदेश में ऑक्सीजन संबंधित कोई दिक्कत नहीं है। कल भी 503 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रदेश को होगी।
डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में एक्टिव प्रकरणों में विगत आठ दिन में लगभग 10 हजार की कमी आई है। यह कमी सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के साथ ही जनता की जागरूकता के कारण संभव हो पाई है, क्योंकि लोगों ने खुद जनता कर्फ्यू  लगाया है। हम हर हाल मे कोरोना की चेन को तोड़ने मे सफल होंगे।