प्रदेश में 27 सितम्बर को पुन: टीकाकरण महाअभियान : मुख्यमंत्री

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में 27 सितम्बर को पुन: टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा। इस महाअभियान में प्रमुखता से प्रदेश के उन पात्र व्यक्तियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम डोज लगाई जाएगी, जिन्होंने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है। महाअभियान में यह सुनिश्चित किया जाएगा कि प्रदेश के शत-प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को वैक्सीन प्रथम डोज लग जाए। लक्ष्य प्राप्ति के लिए पूर्व महाअभियानों की तरह इस महाअभियान में भी जन-भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।
इस सिलसिले मे मुख्यमंत्री गुरूवार को दोपहर 2.30 बजे जिला, विकासखण्ड, वार्ड और ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों के सदस्यों को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य प्रदेश की जनता को कोरोना संक्रमण से बचाना है। इसके लिए वैक्सीन कारगर उपाय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैक्सीन की नि:शुल्क उपलब्धता करवा कर पुण्य का काम किया है। अब हम सबका दायित्व बनता है कि सभी पात्र लोग वैक्सीन अनिवार्य रूप से लगवाये। उन्होंने कहा कि अभी तक वैक्सीनेशन में जो उपलब्धियाँ प्राप्त की गई है, उसमें जन-भागीदारी को नकारा नहीं जा सकता। जिला, विकासखण्ड, वार्ड और ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों ने भी सक्रिय भागीदारी निभाकर पूर्व के दो टीकाकरण महाअभियान को सफलता दिलाई हैं। मुख्यमंत्री  ने कहा कि तीसरे टीकाकरण महाअभियान में भी क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों और सामाजिक संस्थाओं की सहभागिता से सफलता अवश्य प्राप्त होगी।
प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण माह जनवरी 2021 से निरंतर जारी है। अभी तक प्रदेश में 5 करोड़ 91 लाख से अधिक वैक्सीन के डोज लगाये जा चुके हैं। इसमें से 4 करोड़ 59 लाख 49 हजार 20 नागरिकों को वैक्सीन का प्रथम डोज और 1 करोड़ 31 लाख 72 हजार 210 नागरिकों को वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया जा चुका है।
मुख्यमंत्री ने टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने के लिये सभी वर्गों से अपील की है कि मानव जीवन की सुरक्षा के लिये सभी लोग स्व-प्रेरणा से आगे आये और महाअभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने मंत्रिपरिषद के सदस्य, सांसद, विधायक, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के जन-प्रतिनिधियों सहित विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के प्रमुखों, धर्मगुरूओं, मीडिया प्रतिनिधि, साहित्यकारों, बुद्धिजीवियों और गणमान्य नागरिकों से अपील की है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में जनता से वैक्सीन लगवाने की अपील करें, जिससे अभियान के उद्देश्यों को प्राप्त किया जा सकें।