कांग्रेस ने अमेजन के कथित घूसखोरी और हजारों करोड़ की ड्रग्स केस में सरकार पर दागे 10 सवाल

नई दिल्ली। कांग्रेस ने ई कॉमर्स कंपनी अमेजन द्वारा कथित तौर पर भारत में 8 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की घूस देने और हजारों करोड़ की ड्रग्स के मामले में सरकार को घेरा है. कांग्रेस प्रवक्ता और महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इन मुद्दों को लेकर सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि अमेजन कंपनी द्वारा 8,546 करोड़ रुपये की रिश्वत क्यों और किसे दी गई? पिछले 1 साल में 14 करोड़ रोजगार खत्म हो चुके हैं. दुकानदार, छोटा उद्योग, एमएसएमई- सबका धंधा चौपट है. यह साफ हो गया कि करोड़ों दुकानदारों, छोटे उद्योगों, युवाओं की नौकरियां खत्म होने का असली कारण क्या है?
1.  अमेजन की ओर से कथित 8,546 करोड़ की रिश्वत भारत सरकार में किस अधिकारी और सफेदपोश नेता को मिली?
2.  क्या यह घूस केंद्र सरकार में कानून और नियम बदलने के लिए दी गई ताकि छोटे-छोटे दुकानदारों और उद्योगों का धंधा बंद कर अमेजन जैसी ई-कॉमर्स कंपनी का कारोबार चल सके?
3.  अमेजन की 6 कंपनियों ने मिलकर 8,546 करोड़ रुपये का भुगतान किया. इन कंपनियों का परस्पर क्या संबंध है. यह रकम निकालकर किसको और किस तरह भुगतान किया गया?
4.  अमेरिका और भारत दोनों देशों में लाबिंग और घूसखोरी गुनाह है और गैर कानूनी है. तो फिर सरकार की नाक के नीचे इतनी बड़ी रकम घूस में कैसे और किसे दी गई?
5.  क्या विदेशी कंपनी द्वारा 8,546 करोड़ की कथित रिश्वत की दी गई रकम अपने आप में राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ व समझौता नहीं?
6.  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चुप क्यों हैं? क्या वह अमेरिका के राष्ट्रपति से अमेजन कंपनी के खिलाफ तथाकथित रिश्वत घोटाले में अपराधिक जांच की मांग करेंगे?
7.  क्या देश में इस तथाकथित रिश्वत घोटाले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से नहीं करवाई जानी चाहिए?
8. दुनिया का सबसे बड़ा हेरोइन ड्रग्स खुलासा सामने आया, 1,75,000 करोड़ रुपये के 25 हजार किलो हेरोइन ड्रग्स कहां गई? नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, डीआरआई, ईडी, सीबीआई, आईबी, क्या सोए पड़े हैं या फिर उन्हें मोदी जी के विपक्षियों से बदला लेने से फुर्सत नहीं?
9.क्या ड्रग माफिया को सरकार में बैठे किसी सफेदपोश का और सरकारी एजेंसियों का संरक्षण प्राप्त है? अडानी मुंद्रा पोर्ट की जांच क्यों नहीं की गई? क्या प्रधानमंत्री और सरकार देश की सुरक्षा में फेल नहीं हो गए हैं? क्या ऐसे में पूरे मामले की सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज का कमीशन बना जांच नहीं होनी चाहिए?
10. सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि अखाड़ा परिषद के अधीन 14 अखाड़े आते हैं, जिस तरह से महंत जी की मृत्यु हुई उसमे षड्यंत्र की बू आती है. वेदांती जी बीजेपी के भी सांसद रहे हैं उन्होंने भी कहा कि ये हत्या है. आदित्यनाथ जी मामले में पर्दा डालने चाहते हैं. महंत जी ने आदित्यनाथ सरकार से कोई पत्राचार किया था क्या उनकी कार को टक्कर मारकर घायल करने की कोशिश की? अगर संत समाज सुरक्षित नही तो योगी जी को इस्तीफा दे देना चाहिए।