पीएम मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार देश बेच रही है : मोहन प्रकाश

मुरैना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार देश को बेच रही है। प्रधानमंत्री के मित्र अडाणी के फार्चून तेल की कीमत जो पहले 80 से 90 रुपए होती थी वह आज 250 रुपए किलो है। मुरैना के सांसद व केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर तेल की मंहगाई का कारण उसमें मिलावट न करने देना बता रहे हैं, जबकि यह चार महीने पहले की बात है, लेकिन आज भी यही स्थिति है। अडाणी के मुद्रा एयरपोर्ट पर 21 हजार करोड़ की हीरोइन पकड़ी गई थी। यह हीरोइन किसकी थी इसका खुलासा सरकार ने अभी तक नहीं किया है। यह बात रविवार को पत्रकारों से रूबरु होते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता मोहन प्रकाश ने कही।
आपको बता दें, कि कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रविवार को मुरैना आए। वह यहां कांग्रेस नेता रामलखन दण्डौतिया के होटल में ठहरे तथा वहीं पर पत्रकारों से रूबरु हुए। उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधान मंत्री मोदी के मित्र अडाणी का फार्चून तेल जो पहले 80 से 90 रुपए किलो मिलता था आज 250 रुपए का मिल रहा है। देश में मंहगाई की लूट चल रही है। आप एक दवाई को आज लीजिए और उसी को तीन माह बाद लीजिए तो उसमें 20 से 25 रुपए बढ़कर मिलेंगे। यह सरकार देश को बेच रही है।
उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी द्वारा 14 दिसंबर से 29 दिसंबर तक पूरे देश में जनजागरण अभियान चलाया जाएगा। इसके माध्यम से भाजपा की करतूतों को देश की जनता के सामने रखा जाएगा। मोदी सरकार के खिलाफ पूरे देश के अन्दर 12 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल रैली होने जा रही है जो मोदी सरकार की महंगाई, बेरोजगारी व किसानों के उत्पीड़न के खिलाफ तथा लोकतांत्रित व्यवस्था खत्म करने के खिलाफ है। इस रैली का नेतृत्व राहुल गांधी व सोनियां गांधी करेंगे।
उन्होंने मोदी सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि सरकार की हठधर्मिता की वजह से किसान बर्बादी के कगार पर है। आज भले ही तीनों काले कानून सरकार ने वापस ले लिए हैं लेकिन उसके बावजूद आज एमएसपी का सवाल है। 700 किसान मोदी के दरवाजे पर जान दे चुके हैं।
उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि अभी उन्होंने तीन हजार करोड़ रुपए जेवर एयरपोर्ट पर खर्च किया है तथा उसका शिलान्यास करेंगे। मोदी सरकार बताए तथा ऐलान करे कि उसको हम बेचेंगे नहीं। अक्टूबर माह में कुशीनगर एयरपोर्ट का उद्घाटन किया तथा सितंबर में जो बेचने वाले हवाई अड्‌डों की सूची हैं उसमें उसका नाम शामिल कर दिया। जयपुर एयरपोर्ट पर तीन हजार करोड़ रुपए मोदी सरकार ने खर्च किया। 400 करोड़ रुपया उसकी सजावट पर खर्च किया। उसके बाद अडाणी को दे दिया।
उन्होंने मोदी सरकार पर बरसते हुए कहा कि क्या कोई देशभक्त एलआईसी को बेच सकता है? जो एलआईसी हर पंचवर्षीय योजना में भारत सरकार को पैसा देती है। इस देश के अन्दर 41 आर्डिनेंस फैक्ट्री हैं उनका निजीकरण करके निजी हाथों में बेच दिया। उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन फैक्ट्रियों में भारतीय सेना के हथियार बनाए जाते हैं। जब वह निजी हाथों में जाएंगी तो गुणवत्ता का क्या भरोसा रह जाएगा। हमारी सुरक्षा खतरे में पड़ जाएगी। उन्होंने कहा कि बैंकों को बेचने का काम हो रहा है। पूरी बैकिंग व्यवस्था को मोदी सरकार ने ध्वस्त कर दिया है। आज लोगों को बैंकों पर विश्वास नहीं हो रहा है।
उन्होंने कहा कि सरसों के तेल की मंहगाई पर यहां के सांसद नरेन्द्र सिंह तोमर ने यह बयान दिया कि सरसों का तेल इसलिए महंगा हो रहा है कि हमने उसमें मिलावट रोक दी है। यह बयान चार महीने पुराना है लेकिन इन चार महीनों में क्या हुआ। उससे भी बड़ा पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए यह कानून ला रहे हैं कि जो डिब्बा बंद तेल वे ला रहे हैं, केवल उसी को खरीदा जा सकता है। उससे मजदूर व छोटे व्यापारी व पंसारी अपराध की श्रेणी में आ जाएंगे।
उन्होंने बताया कि अमेजन कंपनी ने इस बात का खुलासा किया है तथा अपने कागजात में लिखा है कि हमें अपने व्यापार को भारत में बढ़ाने के लिए 8400 करोड़ रुपया खर्च करना पड़ा। जितने छोटे दुकानदार हैं वे सब बर्बाद हो जाएंगे।
मोहन प्रकाश ने बताया कि अडाणी का मुद्रा पोर्ट है। उस पर 21 हजार करोड़ की हीरोइन पकड़ी गई थी। उसके 15 दिन बाद गुजरात में 600 करोड़ की हीरोइन पकड़ी गई थी। फिर चार दिन बाद 300 करोड़ की हीरोइन पकड़ी गई थी। यह हीरोइन कहां से आ रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बिना सरकार की मदद के यह काम नहीं हो सकता है। उन्होंने मोदी से मांग की है कि तत्काल अडाणी को हिरासत में लेकर कार्रवाई करें। हीरोईन का खुला व्यापार देश में हो रहा है जो देश के नौजवानों को बर्बाद कर देगा। इससे जो लोग पैसा कमा रहे हैं, उससे कहीं न कही सत्ता प्रतिष्ठान को लाभ पहुंचा रहे होंगे।