आँगनवाड़ियों के संचालन में समाज को जोड़ने शुरू होगा “आँगनवाड़ी गोद लें अभियान” : चौहान

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बच्चे हमारे देश का भविष्य है और स्वस्थ, शिक्षित और संस्कारित बच्चे समर्थ राष्ट्र का निर्माण करते हैं। प्रधानमंत्री  के नेतृत्व में वैभवशाली, गौरवशाली, संपन्न, समृद्ध और शक्तिशाली भारत निर्माण का महायज्ञ चल रहा है। इसकी सफलता के लिए जरूरी है कि हमारे बच्चे पूर्ण स्वस्थ रहे। आँगनवाड़ी, बच्चों को स्वस्थ एवं सुशिक्षित रखने, उन्हें बेहतर संस्कार देने और उनकी बेहतर ग्रोथ का माध्यम है। आँगनवाड़ी केवल सरकार की जवाबदारी नहीं है। सरकार संसाधन जुटा रही है। पोषण आहार भेज रही है। व्यवस्थाएँ जुटा रही हैं। इसमें समाज की भी जवाबदारी है। मेरी, आपकी अपने बच्चों के प्रति जवाबदारी है और इसलिए, हमने सोचा है कि आँगनवाड़ी केवल सरकार न चलाए, सरकार के साथ समाज को भी जोड़ा जाए। इस उद्देश्य से हमने "आँगनवाड़ी गोद लें अभियान" प्रारंभ किया है।
चौहान ने मीडिया के माध्यम से प्रदेशवासियों के नाम जारी संदेश में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई लोगों ने आँगनवाड़ी गोद ली है। लेकिन, केवल कुछ व्यक्ति ही आँगनवाड़ी गोद क्यों लें। सभी लोग आँगनवाड़ी से जुड़े। आँगनवाड़ी में संपूर्ण पोषण आहार मिले, शिक्षा देने की व्यवस्था ठीक हो, खेलकूद की व्यवस्था की जाए। आज इसकी आवश्यकता है और इसी को ध्यान में रखते हुए आँगनवाड़ी को समाज से जोड़ने के लिए आँगनवाड़ी में संपूर्ण संसाधनों की व्यवस्था के लिए मैं, भोपाल में हाथ ठेला लेकर निकला था। बच्चों के लिए खिलौने और अन्य सामग्री एकत्रित करने के लिए लोगों ने दोनों हाथ खोल कर सहयोग दिया। मैं तो हाथ ठेला लेकर निकला था, लेकिन खिलौनों से ट्रक भर गए। अनेक प्रकार की सामग्री आ गई, लाखों रूपए के चेक और कमिटमेंट आ गए। मैं भावविभोर हूँ, मेरा उत्साह और बढ़ गया है। इसलिए समाज को आँगनवाड़ी से जोड़ने का अभियान अब एक सामाजिक आंदोलन बन रहा है।
चौहान ने कहा कि मैं आपसे विनम्र अपील करता हूँ कि आप भी इस अभियान से जुड़िए, आंदोलन से जुड़िए, आप आँगनवाड़ी की आवश्यकताओं की पूर्ति में सहयोग कर सकते हैं। किसान हैं तो अनाज दे दीजिए, व्यापारी हैं तो सामग्री दीजिए, उद्योगपति, कर्मचारी, अधिकारी सामाजिक और अन्य काम में लगे व्यक्ति हैं, तो जो आपका सामर्थ्य हो, उस क्षमता से आँगनवाड़ी के लिए कुछ न कुछ जरूर दें। आप अपना जन्म-दिन आँगनबाड़ी के बच्चों के साथ मनाएँ। आप न जाये तो वहाँ दूध, फल, पोषण समग्री भिजवा दें। माता-पिताजी की पुण्य-स्मृति में आप आँगनवाड़ी में भोजन करा सकते हैं। बच्चों के जन्म-दिन पर आँगनवाड़ी में सामग्री भेंट कर सकते हैं। इसलिए मैं, आज आपसे भावुक अपील कर रहा हूँ। आँगनवाड़ी से जुड़िए, मतलब अपने बच्चों से जुड़िए और अपने देश के भविष्य से जुड़िए।
चौहान ने नागरिकों से अपील की कि वे अपने शहर, गाँव में आँगनवाड़ी के लिए सामान एकत्रित करने निकलें और आँगनवाड़ी में सामग्री भेंट करें। जब मैं, हाथ ठेला लेकर निकल सकता हूँ तो आप भी क्यों नहीं निकल सकते हैं।
चौहान ने प्रदेशवासियों को संकल्प दिलाते हुए कहा कि आइए, हम संकल्प ले कि प्रदेश में हर बच्चा सम्पूर्ण स्वस्थ होगा, कोई अंडरवेट नहीं रहेगा, आँगनवाड़ी में पोषण आहार की कमी नहीं रहेगी, बाकी आवश्यकता की पूर्ति हम करेंगे, समाज करेगा। चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी से समाज को जोड़ने का अभियान बच्चों को स्वस्थ, शिक्षित और संस्कारित बनाने का महायज्ञ है। इसमें प्रदेशवासी भी अपनी आहूति दें।